क्‍या आप भी है अपने टूटते झणते बालों से परेशान तो पढियें इन सब समस्‍याओं के कारण और उपचार

0
771

बाल सम्बंधी जानकारिया

रोजाना50-100बालो का झडना सामान्य होताहै। इतने बाल झडने के बाद पुनःवापसआजातेहै।

अगर किसी कारण से इतने बालवापस नही आते तो उसका कारण जानकर उपचार करना होता है।

गंजापनयाबालोकेकमहोनेकाकारणः-

= अनुवांशिक(Hereditary)

= अत्यधिक डायटींग (Dieting)

= हामॉन्स का असंतुलन होना(थायराँड,डाइबेटिक,गभावथा)

= अनेमिया (खुन की कमी होना)

= नींद का पूरा न होना (Abnormal Sleep)

= देर रात तक जगना (Late -night Sleep)

= धूल मिटृी वाले जगह पर रहना/काम करना

= बार-बार शैम्पू या तेल बदलना

= संतुलित आहार न लेना

अचछे बाल हेतु आहारः-

रोजाना हरी साग-सब्जियांखाए।

विटामिन सी जैसै-नींबू , आमला, संतरारोजखाए।

दाल,दूध, दहींऔरअंडारोजखाए।

अंकूरित चीज रोजखाए (मूंग/चना)

रोजाना 4-5लीटरपानीपीए।

केला, पपीता, आदिरोजखाए।

तेलीपदार्थकमखाए।

डा्यफ्रूट्सखाए।

जरूरी ऐतियातः

गीले बालों को कपडों से आराम से सुखाए।

तेल से हलके हाथों से मसाजकरें।

बाइक चलाते समय सिर पर कपडा़ जरुर बाधें या फिर काटन एप्रेन पहने।

मानसिक तनाव से दूर रहें।

गीले बालो मे कंघी न करें।

केमीकलडाई/ कलर का इसतेमाल न करें।

हेयर सटाईलिंग क्रीम या जेल का इसतेमाल न करें।

(Treatment) उपचार

सबसे पहले इलाज के लिए कारण का पता होना आवशयक होता है। उसके बाद उसका इलाज किया जाता है। बांलो का झडना की 95% समस्याए डो्जेनिटिकअलोपेशिया के कारण होती है यह पुरुषो और सित्रयों दोनों को प्रभावित कर सकती है।सामानय पुरुषों मे बाल झडने का कारण अनुवांशिक होता है। इलाज के लिए दवा सालो लेनी पडती है जिसको करवाने से रिजल्ट अचछे आते है।

जडो को मजबूत करने हेतु कुछ उपचारः-

माइक्रोनीडलींग(mucroneedling):- इस मे डरमारोलर से रोम छिद्रो को खोलकर ग्रोथ फैकटर लगाई जाती है जिससे की जड मजबूत होते है और बाल मोटे व मजबूत आते है। इसे हर महिने करवाना होताहै।

पीआरपीविधि(PRP Treatment):-इस विधि मे ब्लडसेप्लेट  लेट व अन्य ग्रोथ फैकटर को अलग करके जडोमेइनजेकट किया जाता है।जिससे जड मजबूत होती है।

लोलाईटलेजर (Low light laser)ः-लेजर की किरणों से बाल के जडों को मजबूत किया जाता है।इसे सप्ताह मे दो बार करवाना चाहिए।

केश प्रत्यारोपण (Hair Transplqntation):-जिस जगहपर बालों के जड पूरी तरह खतम हो जाते हैं वंहा प्रत्यारोपण के द्रारा बाल लगाये जा सकते है।

डाँ. सारिकासिघांनिया,एमडी(मुम्बई)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here