वन्य जीवों का अवैध शिकार, वनोपज की अवैध कटाई एवं परिवहन को रोकने के लिए वन अपराध की सूचना देने वाले व्यक्ति को किया जाएगा पुरस्कृत

0
370

वन अपराध प्रकरण में अपराधी को सफलतापूर्वक पकड़वाने वाले व्यक्ति को पुरस्कार प्रदान किया जाएगा साथ ही वन अपराध की सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम पूर्णतः गुप्त रखा जाएगा। जगदलपुर वृत्त के मुख्य वन संरक्षक ने जन साधारण से अपील की है कि वे वनों की अवैध कटाई, अवैध उत्खनन, अवैध शिकार तथा अवैध परिवहन करने पर वन अपराधों की सूचना निकटतम वन अधिकारियों को दें।
मुख्य वन संरक्षक ने बताया कि वन्य प्राणियों के अवैध शिकार की घटना एवं शिकार करने वालों की सूचना देने वाले व्यक्तियों को पुरस्कार राशि प्रदान किया जाएगा। अवैध शिकार प्रकरण जैसे शेर, गौर, जंगली भैंस, जिसमें अपराधी की सूचना दी गई है या अपराधी का पता नहीं दिया गया है, उन्हें वन विभाग द्वारा निर्धारित की गई राशि से पुरस्कृत किया जाएगा। इसी तरह वन अपराध प्रकरणों में गुप्त निधि से पुरस्कार दिये जाने संबंधी नियम छत्तीसगढ़ शासन वन विभाग द्वारा वनों के संरक्षण के बढ़ते महत्व एवं वनोपज की बढ़ती कीमतों के दृष्टिगत वन अपराधियों के विरूद्ध एक गुप्त सूचना तंत्र विकसित करने का निर्णय लिया गया है जिससे क्षेत्रीय अधिकारियों को जानकारी यथा समय प्राप्त हो सके तथा प्रभावी गुप्त सूचना के आधार पर उनके द्वारा वन अपराधियों के विरूद्ध कारगर कर वन अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।
राज्य शासन द्वारा वन अपराध प्रकरण के संबंध में अपराधी को सफलतापूर्वक पकड़वाने वाले व्यक्ति को गुप्त निधि से पुरस्कृत करने के लिए पारितोषिक राशि स्वीकृत की गई है। पारितोषिक राशि को स्वीकृत करने का अधिकार मुख्य वन संरक्षक एवं वनमण्डलाधिकारी को ही रहेगा। मुख्य वन संरक्षक एवं वनमण्डलाधिकारी पुरस्कार नियम के अनुसार राशि स्वीकृत कर सकेंगे। वन अपराध प्रकरण के संबंध में किसी भी व्यक्ति द्वारा वनमण्डलाधिकारी, परिक्षेत्र अधिकारी को सूचना दिये जाने पर वनमण्डलाधिकारी द्वारा इसका विवरण स्वयं दर्ज किया जाएगा। सूचना के आधार पर अपराध की रोकथाम की कार्यवाही की जाएगी तथा वन अपराधी के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया जाएगा। यदि वन अपराध प्रकरण दर्ज करने  में सफलता मिलती है तथा अपराधी को पकड़ लिया जाता है या सूचना की सत्यता प्रमाणित हो जाती है तो वन अपराध की सूचना देने वाले व्यक्ति गुप्त निधि से पुरस्कार पाने की अधिकारी होगा। पुरस्कार की राशि की स्वीकृति वनमण्डलाधिकारी अथवा उससे वरिष्ठ अधिकारी दे सकेंगे। क्षेत्र के नागरिक वनों एवं वन्य प्राणी संरक्षण के राष्ट्रीय कार्यक्रम में महत्वपूर्ण योगदान देकर आर्थिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here