Remdesivir News : राज्यपाल ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से प्रदेश में रेमडेसिविर की कमी के संबंध में की चर्चा

0
22

रायपुर। Remdesivir News : राज्यपाल अनुसुईया उइके ने रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन से दूरभाष पर प्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी को लेकर बात की। राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश में कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है और रेमडेसिविर की कमी है। इसके कारण आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। दवा बाजार में भी इसकी आपूर्ति देर से हो रही हैं। कृपया इसकी छत्तीसगढ़ में जल्द आपूर्ति के निर्देश देने का कष्ट करें।

इस पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में रेमडेसिविर की आपूर्ति एक दो दिन में कर दी जाएगी। इससे इस दवा की कमी का संकट का जल्द समाधान होगा। राज्यपाल उइके ने हर्षवर्धन से कहा कि इस बीमारी के संबंध में लोगों में भय का वातावरण निर्मित हो गया है उसे दूर किए जाने की आवश्यकता है।

हर्षवर्धन ने कहा कि इस संबंध प्रभावी कदम उठाए जाएंगे। आप भी राज्य सरकार को निर्देश दे कि विभिन्न् संचार माध्यमों से जनता को जागरूक करें और कहे कि उस बीमारी से डरने के बजाए जागरूक होकर इसका सामना करें। साथ ही सावधानी रखें। इससे पूर्व राज्यपाल ने स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव से भी फोन में बात कर प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण के लिए प्रभावी उपायों पर चर्चा की।

कोरोना से लड़ने आपदा मोचन निधि से 50 करोड़ मंजूर

प्रदेश में कोरोना संक्रमण से रोकथाम के प्रयासों में और तेजी लाने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने राज्य आपदा मोचन निधि से पचास करोड़ स्र्पये की स्वीकृत दी है। यह राशि पहले मद से दी गई 192.37 करोड़ स्र्पये के अतिरिक्त है ।

मुख्यमंत्री बघेल ने वर्ष 2021-22 के लिए रखी गई राशि में से यह पचास करोड़ रुपये तत्काल स्वीकृत कर स्वास्थ्य विभाग को देने का निर्णय लिया है। सीएम निर्देश दिया है कि स्वास्थ्य विभाग कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए नमूनों के संकलन, स्क्रीनिंग, नए प्रयोग शालाओं की स्थापना , कोविड अस्पतालों में आवश्यक सुविधा उपलब्ध कराने के लिए किया जाएगा।

बता दें कि इसके पहले विभिन्न् मदों से बीते एक वर्ष में 853 करोड़ से अधिक का आवंटन सीएम के निर्देश पर कोविड नियंत्रण से संबंधित विभिन्न् कार्यो के लिए किया जा चुका है। बघेल ने कलेक्टरों और विभिन्न् विभागों को निर्देश दिए हैं कि आर्थिक व विभिन्न् संसाधनों की किसी भी हालत में कोई कमी न होने दी जाए। मुख्य सचिव व अतिरिक्त मुख्य सचिव से निरंतर मानीटरिंग के लिए कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here