ट्रेन को चलाने में स्टेशन मास्टर का क्या रोल होता है? आपको पता है स्टेशन मास्टर की सैलरी कितनी होती है?

0
69

भारतीय रेलवे के अंतर्गत आने वाले सभी छोटे-बड़े रेलवे स्टेशन की देखरेख के लिए एक स्टेशन मास्टर नियुक्त किया जाता है. स्टेशन मास्टर की पोस्टिंग किसी रेलवे स्टेशन पर ही होती है और रेलवे स्टेशन परिसर में ही उसका दफ्तर भी होता है. किसी भी रेलवे स्टेशन पर तैनात स्टेशन मास्टर के कई महत्वपूर्ण काम होते हैं. रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को मिलने वाली सभी सुविधाएं एक स्टेशन मास्टर की प्लान करता है. आज हम यहां एक स्टेशन मास्टर के प्रमुख काम और उनकी सैलरी के बारे में जानेंगे.

स्टेशन मास्टर के प्रमुख काम और जिम्मेदारियां

  • स्टेशन मास्टर को एक रेलवे स्टेशन का प्रमुख भी कहा जाता है. लिहाजा, एक स्टेशन पर आने वाली और वहां से गुजरने वाली सभी ट्रेनों के संचालन में स्टेशन मास्टर की अहम भूमिका होती है.
  • स्टेशन मास्टर को अपनी ड्यूटी के दौरान एक-एक गतिविधियों पर कड़ी नजर रखनी पड़ती है. स्टेशन मास्टर की एक छोटी-सी चूक बड़े हादसे का कारण भी बन सकती है.
  • एक रेलवे स्टेशन पर काम करने वाले सभी कर्मचारियों से जुड़ी जिम्मेदारी स्टेशन मास्टर की होती है.
  • भारतीय रेलवे के नियमों को ध्यान में रखकर किसी भी रेलवे स्टेशन पर कोई काम कराने की जिम्मेदारी स्टेशन मास्टर की होती है.
  • रेलवे स्टेशन पर आने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा और सुविधाओं की देखरेख भी स्टेशन मास्टर ही करते हैं.
  • रेलवे स्टेशन पर सेवाएं देने वाले कुलियों का नियंत्रण भी स्टेशन मास्टर के पास होता है. यदि कोई कुली किसी यात्री के साथ दुर्व्यवहार करता है या किसी कुली को कोई दिक्कत होती है तो स्टेशन मास्टर ही इन मामलों को देखता है.
  • स्टेशन मास्टर को एक्सिडेंट रजिस्टर और एक्सिडेंट चार्ट रोजाना मेंटेन करना होता है. यात्रियों की किसी भी शिकायत को ध्यान में रखकर कार्यवाही भी करनी होती है.
  • एक स्टेशन मास्टर को रेलवे स्टेशन के सभी पॉइंट्स, सिग्नल, पैनल और ट्रैक सर्किट की रोजाना जांच करना पड़ता है.
  • रेलवे स्टेशन पर काम आने वाले अन्य सिग्नल उपकरण जैसे हैंड लैंप, सुरक्षा उपकरण जैसे अग्निशमन यंत्र की जांच करना भी स्टेशन मास्टर की जिम्मेदारी होती है. इसके अलावा एक स्टेशन मास्टर के और भी कई अहम काम होते हैं, जिन्हें देखने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं.

एक महीने में कितनी तनख्वाह पाते हैं स्टेशन मास्टर
स्टेशन मास्टर की तनख्वाह उसके स्टेशन और शहर पर निर्भर करती है. यदि किसी स्टेशन मास्टर की पोस्टिंग हावड़ा, दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े स्टेशन पर है, उनकी सैलरी ज्यादा होती है. जबकि एक छोटे रेलवे स्टेशन पर तैनात स्टेशन मास्टर की तनख्वाह कम होती है. Quora पर भारतीय रेलवे के एक कर्मचारी सुभाषीश दत्ता रॉय के मुताबिक किसी भी स्टेशन मास्टर की शुरुआती पोस्टिंग एक सहायक स्टेशन मास्टर (ASM) के रूप में होती है. ASM ग्रुप सी के अंतर्गत आते हैं.

बड़े शहरों में तैनात अधिकारी को मिलती है ज्यादा सैलरी
ASM की शुरुआती बेसिक पेमेंट 35400 रुपये और ग्रेड पे 4200 रुपये होता है. इनके वेतन में शहर के हिसाब से HRA (House Rent Allowance) मिलता है और इसमें बड़ा अंतर आ जाता है. इसके अलावा स्टेशन मास्टर को मिलने वाला ट्रांसपोर्टेशन भत्ता भी अलग-अलग होता है. इसलिए बड़े शहरों में तैनात स्टेशन मास्टर और एक छोटे शहर में तैनात स्टेशन मास्टर की तनख्वाह में अंतर आ जाता है. इस तरह से एक ASM की तनख्वाह 52186 रुपये के आसपास होती है. स्टेशन और शहरों के लिहाज से ये तनख्वाह ऊपर-नीचे भी हो सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here