Tuesday, November 12, 2019
Home Tags Irani dairy

Tag: irani dairy

ग्राउंड जीरो से एक रिपोर्ट : बदहाली से खुशहाली की ओर...

मिला नया आशियाना, तो चेहरों पर आयी रौनक ईरानी डेरे के 112 परिवारों पांच सौ सदस्यों के लिए बनी एक नई कॉलोनी रेल्वे पटरी किनारे की झुग्गी बस्ती के तंग माहौल से मिली मुक्ति सीसी रोड, बिजली, पानी की सुविधाओं से परिपूर्ण है पंडित दीनदयाल उपाध्याय ईरानी कॉलोनी कई पीढि़यों पहले हजारों किलोमीटर दूर ईरान से भारत और फिर इस देश के मध्यवर्ती राज्य छत्तीसगढ़ की धरती पर आए ईरानियों की घुमंतू जिंदगी को गुजर-बसर के लिए अब एक स्थायी बसाहट मिल गई है। उनका एक जत्था करीब एक सौ साल पहले वर्तमान छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर आया था, जहां आमापारा में ये लोग घोड़े आदि बेचने का कारोबार करते थे। रहने का कोई स्थायी ठिकाना नहीं था। लिहाजा ये ईरानी परिवार यहां पंडरी इलाके में रायपुर से धमतरी जाने वाली छोटी लाइन की रेलवे पटरी के किनारे झुग्गी झोपड़ी बनाकर रहने लगे। अब लगभग एक सौ बरस की लम्बी बदहाल जिंदगी से निकलकर ये लोग एक खुशहाल भविष्य की ओर बढने लगे हैं। कालोनी के ईरानी परिवारों का कहना है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और उनकी सरकार की विशेष पहल से ही यह मुमकिन हो पाया है। इस डेरे के 112 परिवारों के लगभग 500 सदस्यों को झुग्गी बस्ती के तंग माहौल...