रायपुर: आभार सम्मेलन में CM भूपेश बघेल ने की बड़ी घोषणा, प्रदेश में महिला समूहों को साल में 4 की जगह छह लाख रुपए कर्ज

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक बड़ी घोषणा की है. छत्तीसगढ़ की महिला स्वसहायता समूहों को हर साल 6 लाख रुपए तक का कर्ज दिया जाएगा। घोषणा से पहले तक इसकी सीमा 4 लाख रुपए की थी। साथ ही, प्रदेश सरकार ने सक्षम योजना के लाभ के लिए महिलाओं की वार्षिक आय सीमा 1 लाख रूपए से बढ़ाकर 2 लाख रुपए कर दी है.

सीएम भूपेश बघेल साइंस कालेज मैदान में आभार सम्मेलन कार्यक्रम में पहुंचे थे. जहां मुख्यमंत्री ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और मितानिनों के इस आयोजन में तमाम घोषणाएं की। उन्होंने आगे कहा कि पूरे प्रदेश में 5 हजार नए आंगनबाड़ी भवनों का निर्माण किया जाएगा और हर साल 14 नवंबर को आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं को सम्मानित भी किया जाएगा.

सम्मान सम्मेलन में मिले सम्मान से अभिभूत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने सीएम को गज माला पहनाकर और स्मृति चिन्ह भेंटकर उन्हें सम्मानित किया और मानदेय बढ़ाने के फैसले पर अपनी खुशी जाहिर की। इस अवसर पर उत्कृष्ट कार्य के लिए 6 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और 5 मितानिनों को सीएम ने सम्मानित किया और महिला कोष से 6 स्व-सहायता समूहों को 10 लाख रूपए के ऋण राशि का चेक सौंपा.

आभार सम्मेलन में सीएम भूपेश ने इन सभी महिला कर्मियों का आभार प्रकट करते हुए उनकी जमकर सराहना की और उनकी महत्ता से सबको अवगत कराया. उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका एवं मितानिनें का काम मानवता की सेवा का काम है, जिसे वे लगातार निभाती चली आ रही हैं. कोरोना काल में जिन विपरीत परिस्थितियों से लड़कर कार्य किया और दायित्वों को निर्वाहन किया, वह अन्य कोई नहीं कर सकता। उन्होंने इस मौके पर महिला एवं बाल विकास तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए स्टॉलों का भी निरीक्षण किया. कार्यक्रम में मंत्री अनिला भेडिया, वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा, धनेन्द्र साहू, कुलदीप जुनेजा, डॉ. विनय जायसवाल, डॉ. किरणमयी नायक, रश्मि आशीष सिंह, गुरुदयाल बंजारे, संगीता सिन्हा, अनिता शर्मा व अन्य कांग्रेस नेता मौजूद रहे।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने भी इन घोषणाओं पर खुशी जाहिर की और कहा कि घोषणा पत्र के एक और बिंदु पर मुहर लग गई है. उन्होंने आगे कहा कि घोषणा पत्र में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाओं को कलेक्टर दर पर मानदेय देने का प्रावधान किया गया था, जो आज साकार हो गया है। टीएस सिंहदेव ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया, क्योंकि उन्होंने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय 10 हजार किया और मितानिनों को 2200 रुपए प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *