बस्तर, सुकमा, बीजापुर एवं दंतेवाड़ा दूरस्थ अंचलों में भी पुलिस कर्मियों के लिए बनेंगे मकान

0
1166

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार छत्तीसगढ़ पुलिस को जहां आधुनिक संसाधनों से सुसज्जित कर रही है, वहीं पुलिस कर्मियों और उनके परिवारों की सुविधा के लिए दस हजार मकान बनाने के लिए दो हजार करोड़ रूपए की कार्य योजना तैयार कर उस पर तत्परता से अमल किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने रविवार को राजधानी रायपुर में कोतवाली के पास लगभग तीन करोड़ 84 लाख रूपए की लागत से निर्मित आवासीय परिसर का लोकार्पण करते हुए यह जानकारी दी। लोकार्पण समारोह में डॉ. सिंह ने मुख्यमंत्री पुलिस आवास योजना निलयम का भी शुभारंभ किया।
उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार के उपक्रम पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा प्रधान आरक्षकों और आरक्षकों के लिए निर्मित 48 मकानों के इस परिसर का नामकरण महात्मा गांधी आवासीय परिसर किया गया है। डॉ. रमन सिंह ने पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के काम-काज की प्रशंसा करते हुए कहा कि कार्पोरेशन ने एक छोटी टीम के साथ कार्य की शुरूआत की है। उन्होंने इस आवासीय परिसर का निर्माण समय पर पूर्ण होने पर प्रसन्नता व्यक्त की और इसके लिए कार्पोरेशन के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को बधाई दी। डॉ. रमन सिंह ने पुलिस अधीक्षक रायपुर को इन आवासीय भवनों की चाबी सौंपी।
मुख्यमंत्री ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि राजधानी रायपुर में पुलिस कर्मियों के लिए आज लोकार्पित इस आवासीय परिसर में उन्हें और उनके परिवारजनों को स्वच्छ, स्वस्थ और सुरक्षित वातावरण मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा 120 थाना भवनों का निर्माण किया जा चुका है। अब तक 27 जिलों में तीन हजार 300 पुलिस आवास बनाए जा चुके हैं। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) द्वारा सड़क निर्माण में असमर्थता जाहिर करने पर उन सड़कों का निर्माण छत्तीसगढ़ पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा अपने हाथ में लिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा- लोक सुराज अभियान के दौरान मैंने सुकमा जिले में भेज्जी-इंजरम 28 किलोमीटर की निर्माणाधीन सड़क का निरीक्षण किया था। मैंने मोटर सायकिल में इस सड़क का अवलोकन किया था। डॉ. सिंह ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पहले 22 हजार पुलिस जवान थे, अब उनकी संख्या बढ़कर 60 हजार से अधिक हो गयी है।
विशेष अतिथि की आसंदी से समारोह को सम्बोधित करते हुए कृषि और जल संसाधन में बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि पुलिस के जवान कठिन परिस्थितियों में काम करते हैं। प्रदेश के सुदूर बस्तर, सुकमा, बीजापुर एवं दंतेवाड़ा में कठिन परिस्थितियों के बीच अपने कर्तव्यों दायित्वों का निर्वहन करते हैं। उनमें और उनके परिवार के प्रति असुरक्षा की भावना न हो। इसको ध्यान में रखकर पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन द्वारा इन क्षेत्रों में आवास गृहों का निर्माण किया जा रहा है। राजेश मूणत ने कहा कि प्रदेश सरकार की परिकल्पना को पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन तत्पतरता से पूर्ण कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.