रायपुर: कोने की शराब दुकानों को मुख्य सड़क पर लाने की तैयारी, शुरुआत भाठागांव से, बिक्री 50 फीसदी बढ़ी

0
65

रायपुर. शहर की शराब दुकानों में लॉकडाउन के दौरान होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए अनलॉक के आदेश के बाद अब दुकानों का स्थान बदलकर मुनाफा कमाने की तैयारी चल रही है। इसी कड़ी में अब आउटर में सुनसान जगह पर खोले गए शराब दुकानों को मेन रोड पर लाने की जदोजहद है। आबकारी विभाग ने इसकी शुरूआत भी कर दी है जब भाठागांव शराब दुकान को आउटर से हटाकर रिंगरोड से लगी एक जगह शिफ्ट कर दिया गया है। बता दें कि आउटर से दुकान के मेन सड़क में आने के बाद कमाई सीधे 50 फीसदी बढ़ गई है। ऐसे में शहर में मौजूद और कई दुकानों को मुख्य सड़कों के आसपास स्थापित करने कार्ययोजना भी तय की जा रही है।

आबकारी अफसरों का कहना है, पहले रिंगरोड या फिर नेशनल हाईवे पर 500 मीटर की दूरी तक शराब दुकान के संचालन पर पाबंदी रखने निर्देश जारी किए थे, लेकिन हाल ही में कोर्ट ने इस आदेश में बदलाव कर दिया है। यही कारण है कि आउटर में संचालित दुकानों को दोबारा से पुरानी जगह शिफ्ट करने की कोशिश चल रही है। आबकारी अधिकारियों का कहना है, ऐसी दुकानें, जहां पर भीड़ नियंत्रण के बाहर है, वहां अलग से वालंटियर्स लगाकर व्यवस्था संभालने प्लेसमेंट एजेंसी को भी सख्त निर्देश दिए जा रहे हैं।

चुनिंदा दुकानों पर फोकस

बस स्टैंड, अमलीडीह, मोटर स्टैंड, रायपुरा, आरंग, मांढर और ट्रांसपोर्ट नगर की दुकानों को मुख्य मार्गाें पर लाने मंथन हो सकता है। अफसरों का कहना है, दुकानें अंदर होने की वजह से यहां पर बिक्री काफी प्रभावित हुई है। त्योहारी सीजन छोड़कर बाकी अन्य दिनों में शराब खरीदी करने वालों की संख्या बहुत ही कम है। ऐसे में मुख्य सड़क पर दुकानें संचालित होने से निर्धारित बिक्री लक्ष्य की प्राप्ति आसानी से हो सकती है।

स्टेशन के पास खोला सरेआम प्लस विंडो

रेलवे स्टेशन के पास मौजूद अंग्रेजी वाइन शॉप में अब खुलेआम प्लस का कारोबार किया जा रहा है। इसका उदाहरण तब सामने आया, जब लोवर ब्रांड की शराब में ही कर्मचारी 10 से 20 रुपए लेते कैमरे में कैद हुए।

वालंटियर्स बढ़ाएंगे

भाठागांव शराब दुकान के मामले में आबकारी वृत्त अफसर अनिल मित्तल ने बताया, जैसा वरिष्ठ अधिकारियों का आदेश होगा, वैसे ही आगे व्यवस्था की जाएगी। वैसे ट्रैफिक की कोई समस्या न हो, इसके लिए वालंटियर्स बढ़ाने कहा गया है।

कर्मचारियों ने न सिर्फ लोवर ब्रांड, बल्कि सेमी ब्रांड शराब की बोतलों में भी 20 से 30 रुपए अतिरिक्त वसूल किए। इलाके में ओवररेट बंद रखने के सख्त फरमान के बीच कर्मचारियों ने लापरवाही बरती। सुपरवाइजर शशिकांत मिश्रा से सवाल करने पर उसने कहा, दुकान पर नियंत्रण कहीं और से है। ओवररेट पर ज्यादा कुछ नहीं कह सकते।

बिक्री नहीं, शराबखोरी से जनता त्रस्त

कटोरा तालाब के बाद अब भाठागांव शराब दुकान शराबखोरी के चलते आम जनता के निशाने पर है। यहां से लंबी-चौड़ी शिकायतें आबकारी विभाग और जिला प्रशासन से हुई हैं। मेन सड़क पर दुकान खुल जाने के बाद आम राहगीरों को पास से गुजरना मुश्किल हो रहा है, वहीं त्योहारी सीजन में शौकीनों की भीड़ बढ़ने की वजह से मार्ग में ट्रैफिक प्रभावित है। दोनों दुकानों में परेशानी बढ़ने के बाद नए विकल्प पर विचार संभव है।

JOIN WHATSAPP GROUP:- https://chat.whatsapp.com/DMsBZuMUFRwBk7HnYRvmvB
(अगर आपको कोई समाचार, संदेश ,पर्यटन स्थल, रेसिपी या किसी भी प्रकार की जानकारी डलवाना या विज्ञापन देना चाहते हैं तो आप हमारे इस नंबर पर व्हाट्सएप कर सकते हैं 7987730401)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.