रायपुर: छत्तीसगढ़ ने बनाया अनोखा रिकॉर्ड, 2 लाख लोगों ने एक साथ गया वंदे मातरम

स्वतंत्रता दिवस से चार दिन पहले 11 अगस्त की सुबह छत्तीसगढ़ ने नया कीर्तिमान रचा है. छत्तीसगढ़ के इतिहास में अनोखा रिकार्ड दर्ज किया गया है. दरअसल, शुक्रवार को साइंस कालेज ग्राउंड में दो लाख लोगों ने एक साथ मिलकर राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ गाकर गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज किया. कार्यक्रम में लोगों ने राजकीय गीत अरपा पैरी के धार गीत भी गाया. इस दौरान वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम मौजूद रही.

इस आयोजन में राजनीतिक दल कांग्रेस और भाजपा के नेता, कारोबारी व्‍यापारी संगठन, सामाजिक संगठन के साथ बड़ी संख्‍या में स्कूल-कॉलेज के स्टूडेंट्स शामिल होने के लिए साइंस कॉलेज ग्राउंड पहुंचे. इस मौके पर भारत माता के वेशभूषा में महिलाएं और महापुरुषों की वेशभूषा में बच्चे भी पहुंचे थेे.

आयोजक ओम मंडली शिवशक्ति अवतार सेवा संस्थान और वसुधेव कुटुंबकम फाउंडेशन की ओर से बताया गया कि एक ऐसा रिकॉर्ड जो देश, प्रदेश और दुनिया में अनूठा है. छत्तीसगढ़ के इतिहास में हमेशा-हमेशा के लिए दर्ज हो गया. आजादी के 75वें अमृत महोत्सव को और भी खास और यादगान बनाने के लिए यह पहल की गई है.

निकली भव्य झांकियां, महिलाएं भारत माता की वेशभूषा में

आयोजकों में तुमेशवर साहू ने बताया कि 11 अगस्त को सुबह 8 बजे साइंस कालेज ग्राउंड से ‘मेरी शान, वंदे मातरम’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम के दौरान कई झांकियां भी निकाली गई. इसमें बड़ी संख्‍या में स्कूल, कालेज के छात्र-छात्राएं शामिल हुए. वहीं कई समाज की तरफ से भी झांकियां निकाली जाएंगी. इसमें हजारों बच्चे महापुरुषों के ड्रेस में रहेंगे.

करीब एक हजार बहनें भारत माता और छत्तीसगढ़ महतारी की वेशभूषा में नजर आईं. इस दौरान कर्मा माता की भी झांकी निकाली गई. अनुपम गार्डन से साइंस कॉलेज मैदान तक झांकी निकाली गई. इसमें शामिल होने के लिए मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल,अरुणाचल प्रदेश, दिल्ली, यूपी, बिहार, कर्नाटक आदि राज्यों से लोग रायपुर पहुंचे. वहीं छत्तीसगढ़ के दुर्ग, राजनांदगांव, बलौदाबाजार, महासमुंद, अंबिकापुर और बस्तर समेत कई जिलों से लोग रायपुर पहुंचे.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *