दंतेवाड़ा: अरनपुर ब्लास्ट मामले में पुलिस ने 3 नाबालिग सहित 7 आरोपियों को किया गिरफ्तार

अरनपुर ब्लास्ट मामले में पुलिस ने तीन नाबालिग सहित 7 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. नाबालिगों को बाल सुधार गृह और शेष 4 आरोपियों को जेल भेजा गया है. पुलिस चारों आरोपियों को पुलिस रिमांड में लेने के बाद अरनपुर बम ब्लास्ट मामले में और तथ्य जुटाएगी.

दरअसल, 26 अप्रैल को माओवादी कैडर की उपस्थिति की सूचना पर DRG के जवान नक्सल विरोधी अभियान के लिए अरनपुर क्षेत्र पहुंचे थे. वहां से वापस लौटने के दौरान IED ब्लास्ट होने से वाहन में सवार 10 DRG जवान और एक चालक शहीद हुए थे.

बताया गया कि दंतेवाड़ा से अरनपुर मार्ग पर नक्सलियों ने बड़ी वारदात को अंजाम देने रोड बनने से पहले ही बारुद लगाने के लिए होल बनाकर रखे थे. IED ब्लास्ट से एक दिन पहले इस होल में नक्सलियों ने सुरंग बनाकर 50 किलो का बारुद लगाया. दूसरे दिन 5 जगहों पर आमा पांडुम के लिए बच्चों के सहारे बैरिकेड लगाकर आने-जाने वाली गाड़ियाें से चंदा वसूल कराया. इस दौरान वहां नक्सली भी मौजूद थे, जो अपने साथियों को हर जानकारी दे रहे थे.

IED ब्लास्ट से पहले तीन गाड़ियां और गुजरी थी, जिसमें उनके आदमी होने की जानकारी देकर छोड दिया गया. वहीं जैसे ही जवानों से भरी गाड़ी आई तो नक्सली ने महुआ पेड़ पर चढे अपने साथी को जानकारी दी. इसके बाद कमान देकर IED ब्लास्ट किया गया, जिससे गाड़ी में सवार 10 जवान और एक चालक शहीद हुए.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *