सट्टेबाजी में मनी लॉन्ड्रिंग और हवाला केस, समन लेकर रात में 2 IPS के दफ्तर गई ED, किसी ने लिया नहीं

सट्टेबाजी में मनीलांड्रिंग और हवाला केस में केंद्रीय प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने IPS तथा पुलिस महकमे के राजपत्रित अफसरों के नाम समन जारी कर उन्हें तामील करना शुरू कर दिया. शुक्रवार-शनिवार को 32 लोगों को समन जारी किया गया. इनमें से रायपुर और दुर्ग में पदस्थ टीआई, एसआई, एएसआई और सिपाही समेत 20 से ज्यादा लोग ईडी दफ्तर पहुंचे।. पूछताछ के बाद रात रात 10.30 बजे जाने दिया गया. उधर, ED की टीमें शनिवार रात 11 बजे दो IPS अफसरों के दफ्तर पहुंचीं.

लेकिन वहां सुरक्षाकर्मी ही मिले. उन्होंने समंस लेने से इंकार किया और कहा कि दो दिन छुट्टी है, साहब नहीं आएंगे. इसके बाद ईडी वाले लौटे लेकिन, पता चला है कि टीमें सोमवार को दिन में ही समंस लेकर उन्हीं दफ्तरों में जाने वाली हैं. सूत्रों के अनुसार ED ने गिरफ्तार ASI चंद्रभूषण वर्मा और सतीश चंद्राकर से जुड़े राजधानी के एक इंस्पेक्टर और एक एएसआई को बुलाया है.

दुर्ग में एक अधिकारी के साथ चलने वाले सिपाही को भी बुलाया गया. ED कोल परिवहन केस में भी इस सिपाही से लंबी पूछताछ कर चुकी है. रविवार को जिन 20 लोगों से पूछताछ की चर्चा है, उनमें 15 से ज्यादा पुलिस वाले हैं. बाकी सट्टेबाजी गिरोह से जुड़े बुकी और उनके खाते मेंटेन करने वाले CA हैं. कुछ सराफा, सरिया और कपड़ा कारोबारियों को भी बुलाया गया है, जिनके जरिए हवाला होने की आशंका है. दो इस के करीबी लोगों से भी लंबी पूछताछ की सूचना है.

शनिवार और रविवार को जिन लोगों को बुलाया गया था, उनमें से ज्यादातर से पूछा गया कि ASI वर्मा और सतीश चंद्राकर को कैसे जानते हों? उनसे मुलाकात कब हुई थी? दोनों ने आपको पैसा देने की बात बताई है, आपको मिला या नहीं? कब और कितना पैसा दिया, क्या हर महीने देते थे और पैसे किस बात के लिए दिए जाते थे वगैरह. ईडी ने कहा कि सबके बारे में पुख्ता सबूत हैं, इसलिए जांच में मदद करें. सभी को दोबारा पूछताछ के लिए बुलाने की बात कही गई है. जिनसे पूछताछ हुई, उनमें से कुछ का कहना है कि ASI समेत 2 लोग पैसों का मैनेजमेंट करते थे, संभवत: ईडी के पास इसके सबूत हैं.

ED ने सट्टेबाजी में जेल जा चुका या उनसे जुड़े लोगों को तलब किया है. अब तक 12 से ज्यादा सट्टेबाजी गिरोह से जुड़े लोगों से पूछताछ हो चुकी है. इसमें कुछ लोगों ने ईडी को बयान दिया है कि उन्होंने पुलिस वालों को पैसा दिया है. उनको पुलिस वाले थाने में तीन-चार घंटे बैठाए रखते थे. एक बुकी ने कहा कि उसे भी कई घंटे बैठाए रखा गया था, फिर 10 लाख लेने के बाद बिना कार्रवाई के छोड़ दिए. कुछ लोगों ने बताया कि उनके खाते में पैसों का ट्रांजेक्शन हुआ था.

ED ने सट्टेबाजी में जेल जा चुका या उनसे जुड़े लोगों को तलब किया है. अब तक 12 से ज्यादा सट्टेबाजी गिरोह से जुड़े लोगों से पूछताछ हो चुकी है. इसमें कुछ लोगों ने ईडी को बयान दिया है कि उन्होंने पुलिस वालों को पैसा दिया है. उनको पुलिस वाले थाने में तीन-चार घंटे बैठाए रखते थे. एक बुकी ने कहा कि उसे भी कई घंटे बैठाए रखा गया था, फिर 10 लाख लेने के बाद बिना कार्रवाई के छोड़ दिए. कुछ लोगों ने बताया कि उनके खाते में पैसों का ट्रांजेक्शन हुआ था. उन्हें बुलाकर डराया-धमकाया गया. पैसा ले लिया. सट्टे से किसी भी तरह जुड़े कई लोगों को बुलाकर थाना में बैठाया जाता था.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *