रायपुर: 30 सितंबर को निकलेगी झांकी, सुरक्षा-व्यवस्था में 600 जवान रहेंगे तैनात, गणेश मूर्तियों का 28 सितंबर से शुरू होगा विसर्जन

रायपुर में 30 सितम्बर को झांकी निकालने की तारीख तय हो गई है. कलेक्टर सर्वेश्वर भूरे ने सभी अधिकारियों को झांकी के दौरान जरूरी व्यवस्थाओं को दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं. पिछले 50 सालों से शहर में झांकी निकाली जा रही है. इसमें गणेश जी के साथ अन्य मूर्तियों को सजाकर हिंदू ग्रंथों और धार्मिक मान्यताओं पर आधार पर दर्शाया जाता है.

गणेश विसर्जन से पहले नगर निगम का अमला शहर की अलग-अलग सड़कों को सुधारने में जुटा हुआ है. निगम कमिश्नर ने गणेश मूर्तियों के विसर्जन से पहले सड़क सुधारने के निर्देश दिए हैं. कुछ दिन पहले शहर की खराब सड़कों को लेकर भाजपा पार्षद दल ने प्रदर्शन भी किया था. इस प्रदर्शन में भाजपा ने गणेश मूर्तियों के विसर्जन से सड़कों के गड्ढों को ठीक करने की मांग की थी.

एडिशनल SP लखन पटले ने कहा, झांकी में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर 600 पुलिसकर्मियों की टीम तैनात रहेगी. जिन रास्तों से झांकियां गुजरेंगी उनके आस-पास की सड़कों में बैरिकेडिंग की जाएगी. बदमाशों पर नकेल कसने के लिए पुलिस सिविल ड्रेस में तैनात रहेगी. चौक-चौराहों पर पुलिस की टीम मौजूद रहेगी, जो गाड़ियों की चेकिंग की करेगी.

28 सितंबर अनंत चतुर्दशी से गणेश जी की मूर्तियों का विसर्जन शुरू हो जाएगा. नगर निगम ने खारून नदी पर निर्मित विसर्जन कुंड में मूर्ति विसर्जन का बंदोबस्त किया है. नगर निगम कमिश्नर ने गणेश विसर्जन स्थल की संपूर्ण व्यवस्थाओं के लिए टीम भी गठित की है. 28 सितंबर सुबह 6 बजे से 4 अक्टूबर सुबह 6 बजे तक टीम तैनात रहेगी.

इस बार शहर में 50 से अधिक झांकियां निकाली जाएंगी. ये झांकियां शारदा चौक से रवाना होकर जय स्तंभ चौक, मालवीय रोड, सिटी कोतवाली चौक, सदर बाजार, सत्ती बजार मार्ग, कंकाली पारा चौक से होते हुए पुरानी बस्ती थाने के सामने लाखेनगर चौक, सुंदर नगर, रायपुरा अंडरब्रिज से महादेव घाट तक जाएंगी.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *