भाजपा विधानसभा स्तरीय सम्मेलन में पत्थरबाजी, दो कार्यकर्ता हुए घायल, अजय चंद्राकर ने कांग्रेस को ठहराया दोषी 

भाजपा भिलाई जिले में विधानसभा स्तरीय सम्मेलन कर रही। सम्मेलन सोमवार को गदा चौक, सुपेला में शाम 6 बजे से कार्यक्रम शुरू किया गया था। इसमें पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर, दयालदास बघेल, विजय जयसवाल व भाजपा के जिलाध्यक्ष बृजेश बिजपुरिया शामिल हुए थे। सम्मेलन समाप्त होने के पश्चात कार्यक्रम स्थल में ही अजय चंद्राकर मिडिया से इस सब की चर्चा कर रहे थे। उसी दौरान पत्थरबाजी शुरू हो गयी। पत्थरबाजी से एक महिला और एक पुरुष को चोटें आयी है। एक पत्थर अजय चंद्राकर के पास जाकर गिरी। भाजपा इस सब का दोषी कांग्रेस को ठहरा रही है। 

भारतीय जनता पार्टी के विधानसभा स्तर पर कार्यक्रम शुरू हो चुका है। सोमवार को गदा चौक, सुपेला में शाम 6 बजे से कार्यक्रम शुरू किया गया था। भाजपा नेताओं की गलती यह है कि कार्यक्रम समापन के बाद वे मीडिया से बात कह रहे थे, इस दौरान सामने की ओर से कुछ व्यक्तियों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसमें भाजपा कार्यकर्ता रितेश, सुनीता को चोट लगी और बड़े नेता बच गए। भाजपा नेताओं ने कांग्रेस के खिलाफ निशाना साधा है।

यह हरकत है कांग्रेस नेताओं की 

भाजपा के भिलाई जिलाध्यक्ष बृजेश बिजपुरिया ने यह कहा है कि, पिछले कुछ दिनों में जिस तरह से भाजपा ने मदभेद किया है। उससे कांग्रेस बुरी तरीके से परेशान हो गई है। उनकी मीटिंग में भाजपा ने कभी ऐसा नहीं करवाया। यह बेहद ओछी हरकत है। कांग्रेस की इस हरकत से भाजपा की कैंप में रहने वाली कार्यकर्ता को कान के पास चोट लगा है। वहीं भाजपा के जो अन्य नेता मंच पर उपस्थित थे, वे बाल-बाल बच गए। पत्थर मंच तक आया था। इस मौके पर अशोक साव, संगीता साव, धर्मेंद्र पांडेय, विनोद चेलक, अम्बिका द्विवेदी, मुर्गेश सोनी, विकास भगत, अखिलेश वर्मा, तुगेंद्र, मदन सेन, पुरुषोत्तम देवांगन, संजय श्रीवास्तव, विश्राम साहू, रवि वर्मा, दिनेश राज वर्मा, दिनेश मिश्रा, सुंदरलाल साहू, अमित पहुजा, स्वीटी कौशिक, दीपमाला सिंह, नीलम वर्मा, संजय जैसवाल, त्रिलोचन सिंह, विजय सिंह, करन कनोजिया, संजय दानी, पूर्व पार्षद दिनेश यादव, ललन मिश्रा, विजय शुक्ला, रितेश, प्रवीण पांडेय, ललन यादव, शोभुराम साहू, जय प्रकाश यादव, संदीप अग्रवाल, अमित मिश्रा, संजय दानी, शारदा गुप्ता, बिजेंद्र सिंह, प्रशम दत्ता, रितेश गुप्ता, मयंक, संजय सिंह, नितेश मिश्रा, सौरभ चटर्जी, प्रदीप पांडेय, भूपेश द्विवेदी, सुभाष पंडित, मनोज तिवारी मौजूद थे।

फिलहाल अभी यह पता नहीं चल पाया है की पत्थरबाजी किसने की और क्यों की। लेकिन सम्मेलन के दौरान बड़ी-बड़ी पत्थरें फेंकी गयी है।  भाजपा इसे कांग्रेस का काम मान रही है और उन पर आरोप लगा रही है |

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *