रायपुर: यंग साइंटिस्ट कांग्रेस में बोले सीएम बघेल- वैज्ञानिक सोच के बिना इंसान का आगे बढ़ पाना संभव नहीं

*मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 18वें छत्तीसगढ़ यंग साइंटिस्ट कांग्रेस 2023 के शुभारंभ समारोह में शामिल हुए. छत्तीसगढ़ काउंसिल आफ साइंस एंड टेक्नोलाजी और पंडित रविशंकर शुक्ल यूनिवर्सिटी रायपुर के तत्वावधान में आयोजन हुआ.*

रायपुर के पं. दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यक्रम में सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि पहले टीवी और मोबाइल के नाम पर भी लोग हंसते थे. लेकिन आज वैज्ञानिक सोच की वजह से मोबाइल में ही लोग टीवी देख रहे हैं. पहले मौसम वैज्ञानिक से जानकारी लेनी पड़ती थी लेकिन आज मोबाइल में ही सब कुछ उपलब्ध है. लेकिन इन संसाधनों का सही इस्तेमाल न करना से इसका दुरूपयोग भी होता है. सीएम बघेल ने आगे कहा कि जितना शोध हमारे ऋषि मुनियों ने किया है उतने शोध पूरी दुनिया में कहीं नहीं हुए हैं. उन्होंने आगे कहा कि वर्तमान समस्याओं को पुराने शोध के आधार पर खोजेंगे तो नए शोध समाज में नहीं आ पाएंगे.

सीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार दुनिया की पहली सरकार है जो गोबर खरीद रही है और इसके लिए लोगों ने मजाक भी बनाया और योजना की सफलता पर सवाल भी उठाए. लेकिन अब गोबर से वर्मी कंपोस्ट बन रहा है, पराली को जला नहीं रहे बल्कि गौठानों में पहुंचा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि जितना हम धरती से ले रहे हैं उतना हमें धरती को वापस भी करना है. उन्होंने अपनी योजना की तारीफ में आगे कहा कि इस योजना से धरती उर्वर हो रही है उत्पादन बेहतर हो रहा है.

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि प्रकृति ने छत्तीसगढ़ में हमें बहुत कुछ दिया है और इसका इस्तेमाल कर हम रोजगार भी उत्पन्न कर रहे हैं. गोबर से कई उत्पाद बन रहे हैं, खाद बना रहे हैं, प्राकृतिक पेंट बना रहे हैं और गोबर से बिजली उत्पादन कर रहे हैं. उन्होंने पंडित नेहरू की तारीफ करते हुए कहा कि पहले प्रधानमंत्री पंडित नेहरू की सोच वैज्ञानिक थी, उनके पास विज्ञान की भी डिग्री थी. जब उन्हें अवसर मिले तो उन्होंने देश को IIT और IIM की सौगात दी। यदि नेहरू जी आधारभूत संरचनाएं निर्मित नहीं करते तो हम भी अपने पड़ोसी देशों की तरफ होते, लेकिन आज हम दुनिया से आंख में आंख मिलाकर बात कर रहे हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *